Indian Economy

अर्थशास्त्र मानव समाज की आर्थिक गतिविधियों का अध्ययन है। व्यक्ति, फर्म, सरकार तथा अन्य संस्थाएं समाज में अपने विकल्पों का चयन कैसे करती है और यह चयन संसाधनों के उपयोग में समाज को किस तरह से प्रभावित करता है। इसका अध्ययन ही अर्थशास्त्र कहलाता है।

एडम स्मिथ (स्कॉटलैंड) प्रख्यात अर्थशास्त्री ने “वेल्थ ऑफ नेशन” में 1776 में शास्त्रीय अर्थशास्त्र का आगाज कियाI

एडम स्मिथ यूनिवर्सिटी ऑफ ग्लासगो में प्रोफेसर थेI

समाजवादी अर्थव्यवस्था में उत्पादन के साधनों पर सामूहिक नियंत्रण होता है। अर्थव्यवस्था को चलाने में सरकार की बड़ी भूमिका होती है। सोवियत संघ की अर्थव्यवस्था समाजवादी अर्थव्यवस्था है।

साम्यवादी अर्थव्यवस्था में सभी संपत्तियों पर सरकार का नियंत्रण होता है। श्रम संसाधन भी सरकार के अधीन ही होते हैंI चीन की अर्थव्यवस्था साम्यवादी अर्थव्यवस्था है।

मिश्रित अर्थव्यवस्था 1939 की महामंदी के बाद ब्रिटिश अर्थशास्त्री  जॉन मेनार्ड केस (कैंब्रिज प्रोफेसर) ने अपनी किताब "The General Theory of Employment  and Money" में मिश्रित अर्थव्यवस्था की राह दिखाईI

मिश्रित अर्थव्यवस्था में निजी तथा सार्वजनिक क्षेत्र दोनों मिल जुलकर काम करते हैंI द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद भारत, मलेशिया और इंडोनेशिया जैसे देशों ने मिश्रित अर्थव्यवस्था को अपनायाI

स्वतंत्रता के बाद भारत में मिश्रित अर्थव्यवस्था को अपनाया गयाI जिसमें सामाजिक- आर्थिक नीतियों में बदलाव के चलते सरकार और बाजार की हिस्सेदारी में परिवर्तन आया और वर्ष 1991 में नई मिश्रित अर्थव्यवस्था  के मॉडल को अपनाया गयाI

वर्ष 1991 में अर्थव्यवस्था में सरकार ने पूर्ण नियंत्रण क्षेत्र दूरसंचार, ऊर्जा, सड़क, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस के क्षेत्रों को निजी क्षेत्रों की भागीदारी के लिए खोल दियाI

चीन में माओ त्से तुंग ने सरकार के पूर्ण नियंत्रण के खिलाफ विचार दियाI वर्ष 1985 में “ओपन डोर” की नीति के अंतर्गत बाजार समाजवाद (Market Socialism) को अपनाया गयाI

सोवियत संघ ने Glasnost  और Prestroika  नामक विचारों को अपनाया ग्लासनोस्त (Glasnost) का मतलब “खुलापन” और Prestroika का मतलब- “पुनर्रचना

अर्थव्यवस्था के तीन क्षेत्र: -

प्राथमिक क्षेत्र में - कृषि कार्य, पशु पालन, मछली पालन तथा उत्खनन शामिल होते हैंI

द्वितीय क्षेत्र में - औद्योगिक क्षेत्र, लौह एवं इस्पात, उद्योग, वस्त्र, उद्योग, वाहन, बिस्किट, केक इत्यादि शामिल किए जाते हैं

तृतीय क्षेत्र में - सेवा क्षेत्र, बैंकिंग, बीमा, शिक्षा, चिकित्सा, पर्यटन इत्यादि को शामिल किया जाता है।

प्राथमिक या द्वितीय या तृतीया क्षेत्रों में से जिस भी क्षेत्र में से अर्थव्यवस्था में 50% से अधिक का सकल घरेलू उत्पाद में योगदान होता है। उसी क्षेत्र की अर्थव्यवस्था उसे मान लिया जाता है। यदि प्राथमिक क्षेत्र का सकल घरेलू उत्पाद में 50% से अधिक योगदान होता है। तो उस अर्थव्यवस्था को कृषक अर्थव्यवस्था माना जाता है।

यदि द्वितीय क्षेत्र का सकल घरेलू उत्पाद में 50% या इससे अधिक का योगदान प्राप्त होता है। तो उस अर्थव्यवस्था को औद्योगिक अर्थव्यवस्था कहा जाता है।

यदि सेवा क्षेत्र के तृतीय क्षेत्र का अर्थव्यवस्था में सकल घरेलू उत्पाद में 50% या इससे अधिक का योगदान रहता हो तो, उस अर्थव्यवस्था को सेवा क्षेत्र की अर्थव्यवस्था कहते हैंI भारत में सेवा क्षेत्र का सकल घरेलू उत्पाद में योगदान करीब 65% के आसपास रहता है।

भारत में सकल घरेलू उत्पाद की गणना 01 अप्रैल से 31 मार्च के बीच में की जाती है।

सकल घरेलू उत्पाद (GDP) किसी अर्थव्यवस्था में 01 वर्ष में उत्पादित सभी वस्तुओं तथा सेवाओं का अंतिम मौद्रिक मूल्य को सकल घरेलू उत्पाद कहते हैं।

शुद्ध घरेलू उत्पाद (NDP) किसी भी अर्थव्यवस्था का जीडीपी जिसमें से 01 वर्ष के दौरान होने वाली मूल्य कटौती को घटाकर प्राप्त किया जाता है। 

NDP = GDP-DEPRECIATION 

GNP - Gross National Product वह आय हैं, जो जीडीपी में विदेशों से प्राप्त होने वाली आय को जोड़कर हासिल की जाती है। भारत से बाहर काम करने वाले व्यक्तियों का लेनदेन विदेशी कर्ज पर ब्याज विदेशी अनुदान भारत द्वारा प्राप्त किए गए एवं दूसरे देशों को दिए गए अनुदान का शेष शामिल किया जाता है।

 GNP = GDP+ विदेशी आय

NNP (Net National Product) - GNP में से मूल्य कटौती को घटाने पर NNP प्राप्त होता है।

NNP को देश की कुल आबादी से भाग देने पर उस देश की प्रति व्यक्ति आय का पता चलता है।

GVA (Gross Value Added) - सकल मूल्य वर्धन में उत्पाद करों को शामिल करने के बाद बाजार मूल्य ज्ञात होता है।

रबी की फसलें अक्टूबर-नवंबर में बोई जाती है और अप्रैल-मई में काटी जाती है। गेहूं, चना, मटर, सरसों (शीत ऋतु) की फसलें रबी की फसलें कहलाती है।

खरीफ की फसलें जून-जुलाई में बोई जाती है और सितंबर-अक्टूबर में काटी जाती है। चावल, बाजरा, ज्वार, मक्का, जूट, मूंगफली, कपास, खीरा, तंबाकू (वर्षा काल) की फसलें खरीफ की फसलों में शामिल की जाती है।

जायद की फसलें रबी और खरीफ के बीच की फसलें मार्च में बोई जाती है और जून में काट ली जाती है। खरबूजा, तरबूज, ककड़ी, करेला (गर्मी) की फसलें जायद की फसलें मानी जाती है।

भारत में परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम कब प्रारंभ किया गया?

वर्ष 1948

भारत का सीमेंट उद्योग चीन के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा उद्योग है। सीमेंट उत्पादन के मामले में राजस्थान का स्थान प्रथम है।

भारत का पवन ऊर्जा क्षमता में एशिया में पहला स्थान है। इस मामले में विश्व के पहले चार अग्रणी देश क्रमश: अमेरिका, जर्मनी, स्पेन व चीन है।

भारत में सबसे ज्यादा विद्युत उत्पादन किस प्रकार के प्लांट से किया जाता है?

तापीय विद्युत

भारत सरकार ने अगस्त 1949 ईस्वी में प्रोफेसर पी. सी. महालनोबिस की अध्यक्षता में एक राष्ट्रीय आय समिति का गठन किया है।

11 जुलाई को प्रतिवर्ष विश्व जनसंख्या दिवस के रुप में मनाया जाता है। 11 जुलाई 1987 को विश्व की जनसंख्या 5 अरब के बिंदु को पार कर गई थी।

भारत का भौगोलिक क्षेत्रफल विश्व के 135.79 मिलियन वर्ग किलोमीटर का लगभग 2.4 प्रतिशत (32.87 लाख वर्ग किलोमीटर है) विश्व की 17.5% जनसंख्या भारत में निवास करती है।

भारत में सन 1872 में पहली बार जनगणना की गई थी। किंतु जनसंख्या का क्रमवार आकलन सन 1881 से किया जा रहा है।

राष्ट्रीय जनगणना नीति का निर्माण किस वर्ष किया गया था? वर्ष 2000

लोकसभा की संरचना को 2001 के पश्चात आगामी 25 वर्षों तक अपरिवर्तित रखने की घोषणा की गई है। इसके लिए संविधान के अनुच्छेद-84 में पुनः संशोधन करना होगाI इसके मौजूदा प्रावधानों के तहत सन 2001 तक लोक सभा में राज्यों से सीटों का निर्धारण 1971 की जनसंख्या के आधार पर ही किया गया है। इसका तात्पर्य यह है कि लोकसभा में निर्वाचित सीटों की संख्या 2026 तक 543 ही बनी रहेगी

मेक इन इंडिया का प्रतीक चिन्ह किसे दर्शाया गया है?

सिंह (राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह अशोक चक्र का हिस्सा है।) यह साहस, बुद्धिमता, शक्ति को भी प्रदर्शित करता है।

कपड़ा उद्योग भारत का कृषि के बाद दूसरा सबसे बड़ा रोजगार प्रदान करने वाला उद्योग है।

हमारे देश में प्राप्त होने वाले कुल कोयले का 98% भाग गोंडवाना क्षेत्र से ही प्राप्त होता है। कोयला उत्पादन में भारत का विश्व में चौथा स्थान है।

क्षेत्रीय बैंकों का शुभारंभ 2 अक्टूबर 1975 को किया गया था। सिक्किम, गोवा के अलावा सभी राज्यों में क्षेत्रीय बैंक कार्यरत है।

“राष्ट्रीय स्टॉक एक्सचेंज” की स्थापना की संस्तुति वर्ष 1991 में किसने दी थी?

फेरवानी समिति

“डो जोंस” शेयर मूल्य सूचकांक किस देश का है?

न्यूयॉर्क में स्थित अमेरिका

सेट तथा तेन” किन देशों के शेयर मूल्य सूचकांक है?

इंग्लैंड तथा ताइवान

“फ्रैंकफर्ट शेयर” मूल्य सूचकांक किस देश का है?

जर्मनी

SEBI (Securities and Exchange Board of India) सेबी की स्थापना केंद्र सरकार द्वारा संसद में कानून पास करके 12 अप्रैल 1988 को की गईI बाद में 30 जनवरी 1992 को एक अध्यादेश द्वारा इस संस्था को वैधानिक दर्जा भी प्रदान कर दिया गयाI अब यह संस्था संवैधानिक निकाय है। सेबी का मुख्यालय मुंबई में है।

1 अप्रैल 1995 से नाबार्ड के तहत एक नई ग्रामीण आधारिक संरचनात्मक विकास निधि RIDF (Rural Infrastructure Development Fund) की स्थापना की गईI

राष्ट्रीय कृषि तथा ग्रामीण विकास बैंक नाबार्ड की स्थापना 12 जुलाई 1982 को हुई थी।

भारत में जीवन बीमा ब्रिटेन की देन है। सर्वप्रथम 1818 में एक ब्रिटिश फर्म ने कोलकाता में ओरिएंटल लाइफ इंश्योरेंस कंपनी की स्थापना की थी।

LIC - लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया की स्थापना 1 सितंबर 1956 को की गई थी।

भारतीय रेलवे एशिया की सबसे बड़ी व विश्व की दूसरे स्थान की रेल प्रणाली है।

लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कहां पर है?

गुवाहाटी

दाबोलिम हवाई अड्डा कहां पर है?

गोवा

कालीकट अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कहां पर स्थित है?

कोझीकोड


Comments